PM मोदी मंच पर और त्रिपुरा के मंत्री ने की ये शर्मनाक हरकत, वीडियो वायरल - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

PM मोदी मंच पर और त्रिपुरा के मंत्री ने की ये शर्मनाक हरकत, वीडियो वायरल

Share This
स्वस्थ लोकतंत्र में जनप्रतिनिधियों से यह आशा रखी जाती है कि वो जनता के प्रति जवाबदेह बनें और अपना आचरण मर्यादित और संयमित रखें. मगर पूर्वोत्तर के राज्य त्रिपुरा के एक मंत्री सार्वजनिक मंच पर अपने पास खड़ी सहयोगी महिला मंत्री को गलत तरीके से छूते नजर आए. हैरान करने वाली बात यह है कि उन्होंने यह शर्मनाक हरकत तब की जब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री बिप्लब देव भी उस मंच पर मौजूद थे. सोशल मीडिया इस घटना का एक वीडियो वायरल हो रहा है. हालांकि फ़र्स्टपोस्ट अपने स्तर पर इस वीडियो की सत्यता और प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं करता है. वीडियो में बिप्लब देव सरकार में मंत्री मनोज कांति देव मंच पर मौजूद सोशल वेलफेयर और शिक्षा मंत्री संतना चकमा के कमर पर गलत तरीके से हाथ फेरते नजर आ रहे हैं. विपक्षी वाम दलों ने इस घटना पर कड़ी आपत्ति जताई है. CPI (M) कार्यकर्ताओं ने सोमवार को राजधानी अगरतला की सड़कों पर उतरकर विरोध-प्रदर्शन किया. Tripura: AIDWA, women's wing of Communist Party of India-Marxist (CPI-M) organised a protest in Agartala against state Minister Monoj Kanti Deb for allegedly inappropriately touching state Minister Santana Chakma during a BJP rally in the city on 9 February. (11/2/19) (1/2) pic.twitter.com/JhfcL0nxZG — ANI (@ANI) February 11, 2019 सीपीआई (एम) के नेता बिजन धर ने कहा कि जिस मंच पर प्रधानमंत्री, राज्य के मुख्यमंत्री और अन्य लोग मौजूद थे वहां राज्य सरकार के एक मंत्री का महिला मंत्री को सरेआम गलत तरीके से छूना शर्मनाक है. उन्होंने कहा कि यदि मनोज कांती देव इस पर अपना इस्तीफा नहीं देते हैं तो मुख्यमंत्री बिप्लव देव को उन्हें बर्खास्त कर देना और उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए. Bijan Dhar, Communist Party of India-Marxist (CPI-M) leader: If in broad daylight, in presence of PM such an incident can take place then one can understand what is the condition of law & order. If he doesn't resign on his own then the CM should sack & arrest him. (11/2/19) (2/2) pic.twitter.com/H2lruVM74p — ANI (@ANI) February 11, 2019 वहीं राज्य की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी ने वाम दलों की इस मांग को खारिज करते हुए उन्हें इस विषय पर राजनीति करने का आरोप लगाया है.


from Latest News राजनीति Firstpost Hindi
आगे पढ़े -फर्स्टपोस्ट

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here