पुलवामा में ट्यूशन सेंटर में विस्फोट से घायल छात्रों को 50-50 का मुआवज, राज्यपाल ने की घोषणा - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

पुलवामा में ट्यूशन सेंटर में विस्फोट से घायल छात्रों को 50-50 का मुआवज, राज्यपाल ने की घोषणा

Share This

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में बुधवार को एक ट्यूशन सेंटर में शक्तिशाली और रहस्यमयी विस्फोट में 28 छात्र घायल हो गए। विस्फोट के बाद नागरिकों और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प भी हुई। श्रीनगर से करीब 30 किलोमीटर दूर काकापोरा कस्बे के समीप नरबल गांव में स्थित ट्यूशन-कम-कोचिंग सेंटर एक निजी स्कूल 'फलाए-ए-मिल्लत' में चलाया जा रहा था। बता दें कि शीतकालीन अवकाश के कारण इन दिनों कश्मीर घाटी में सभी शैक्षणिक संस्थान बंद हैं।

 

भारत की मदद से तैयार हो रहे नेपाल के हाईड्रोपावर प्लांट में बम धमाका, पीएम मोदी ने रखी थी आधारशिला

तीन की हालत गंभीर

पुलवामा जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने कहा कि उनके पास 17 घायल छात्रों को लाया गया, जिनमें से तीन की हालत गंभीर थी। गंभीर रूप से घायल छात्रों को विशेष उपचार के लिए श्रीनगर रेफर कर दिया गया। 11 अन्य छात्रों को पंपोर कस्बे के उप जिला अस्पताल ले जाया गया और उनमें से भी तीन को श्रीनगर स्थानांतरित किया गया। श्रीनगर में भर्ती सभी छह छात्रों की हालत स्थिर है। 10वीं कक्षा को पढ़ाते वक्त बाल-बाल बचे शिक्षक जावेद अहमद को याद नहीं आ रहा कि वास्तव में वहां हुआ क्या। उन्होंने कहा, "वहां बहरा कर देने वाला विस्फोट हुआ, जिसके बाद कक्षा के भीतर सबकुछ उजड़ गया। ईमानदारी से कहूं तो मुझे इस बात का अंदाजा नहीं है कि कितने छात्र घायल हुए हैं।"

देश के इस हिस्से में नहीं मिलेगा 3 लीटर से ज्यादा पेट्रोल, यह त्रासदी बनी सबसे बड़ी वजह

जांच में जुटी पुलिस

बता दें कि पुलिस अब इस घटना के बाद जांच में जुट गई है। पुलिस ने कहा कि इस बात का पता लगाया जा रहा है कि विस्फोट कैसे और क्यों हुआ। इधर राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने घटना पर गहरा अफसोस व्यक्त किया है और प्रत्येक घायल छात्र को 50-50 हजार रुपए की मदद मंजूर की है। पहले रिपोर्ट आई थी कि विस्फोट उस समय हुआ, जब सेंटर का एक छात्र एक ग्रेनेड को उलट-पलट रहा था। लेकिन, इस रिपोर्ट की पुष्टि नहीं हुई। नरबल गांव में विस्फोट की खबर फैलते ही सुरक्षा बलों और नागरिकों के बीच झड़प हो गई।

 

Read the Latest Crime news in hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Crime samachar पत्रिका डॉट कॉम पर.




from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
आगे पढ़े ----पत्रिका

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here