कठुआ में बकरलवाल समुदाय की एक और बच्ची से रेप, जांच के लिए SIT गठित - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

कठुआ में बकरलवाल समुदाय की एक और बच्ची से रेप, जांच के लिए SIT गठित

Share This

नई दिल्‍ली। देश को हिलाकर रखने वाला कठुआ रेप कांड से अभी तक न तो दरिंदों ने न ही पुलिस प्रशासन ने कोई सबक लिया। इसी का नतीजा है कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची के रेप और हत्या के ठीक एक साल बाद बकरवाल समुदाय की एक अन्य बच्ची के साथ रेप का मामला सामने आया है। यह मामला कश्मीर के रामबन जिले के घुमंतु बकरवाल समुदाय की एक 13 वर्षीय बच्ची के रेप से जुड़ा है। जिस समय दरिंदों ने इस घटना को अंजाम दिया उस समय बच्‍ची खेतों में जानवर चराने गई थी। रेप की जानकारी बच्ची ने डर की वजह से किसी से नहीं बताई। इस बात की जानकारी बच्ची ने तब बताई जब उसे पता चला कि वह बीते तीन माह से गर्भवती है।

डॉक्‍टरों की सलाह पर कराया गर्भपात
इस मामला का खुलासा होने के बाद परिजनों ने बच्‍ची को डाक्‍टरों से दिखाया तो वहां भी इस बात की पुष्टि हुई। पीड़िता का शारीरिक रूप से कमजोर होने की वजह से डाक्टरों ने सलाह दी कि अगर उसने गर्भपात नहीं कराया तो जान जोखिम में पड़ सकती है। डॉक्टरों की सलाह के बाद पीड़िता का गर्भपात कराया गया।

जान से मारने की धमकी
बकरबाल समुदाय की पीड़िता के पिता ने कहा कि जब मेरी बच्ची जानवरों को चराने गई थी तभी चार से पांच लोगों ने उसका रास्ता रोक लिया। बच्ची ने हमें बताया कि उसने बचने की कोशिश की तो लोग उसे बुरी तरह पीटने लगे। उनमें से एक ने उसके साथ तब तक रेप किया जब तक वह बेहोश नहीं हो गई। बच्ची को खुद भी नहीं पता कि उसके साथ कितनी बार रेप हुआ है। बच्ची के पिता ने बताया कि बच्ची से आरोपियों ने कहा कि अगर वह इस बारे में किसी को बताएगी तो उसके पूरे परिवार को जान से मार देंगे।

SIT गठित
पुलिस ने इस केस की छानबीन के लिए एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) भी गठित की है। पुलिस ने कहा कि हमने इस मालमे में पीड़िता और उसकी मां का बयान दर्ज कर लिया है। उन्हें घटना कब हुई इसके तारीख की जानकारी नहीं है। पुलिस लड़की की वास्तविक उम्र पता लगाने की कोशिश कर रही है। आसपास के लोग इसे पिछले साल कठुआ में हुई दिल दहला देने वाली घटना से जोड़कर देख रहे हैं। दूसरी तरफ रेप का मामला सामने आने के बाद से बकरवाल समुदाय के लोग काफी डरे हुए हैं।




from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
आगे पढ़े ----पत्रिका

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here