पत्रकार हत्या मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद सिर पकड़कर बैठ गया गुरमीत राम रहीम, खाना भी नहीं खाया - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

पत्रकार हत्या मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद सिर पकड़कर बैठ गया गुरमीत राम रहीम, खाना भी नहीं खाया

Share This

नई दिल्ली। साध्वी से दुष्कर्म मामले में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा के गुरमीत सिंह राम रहीम को दूसरा बड़ा झटका तब लगा जब उसे पत्रकार हत्या मामले में भी दोषी करार दिया गया। सौलह साल पुराने में मामले में देषी करार दिए जाने के बाद गुरमीत के पैरों के नीचे से मानो जमीन ही खिसक गई। पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में दोषी ठहराने के बाद राम रहीम करीब चार मिनट तक सुनारिया जेल में सिर पकड़कर बैठा रहा।


दरअसल इस मामले पर फैसला आने से पहले ही गुरमीत को लगने लगा था कि फैसला उसके पक्ष में नहीं आएगा। लिहाजा उसने खाना-पीना कम कर दिया था। हुआ भी कुछ ऐसा ही जज ने गुरमीत को हत्या और साजिश रचने का दोषी पाया। हालांकि अभी गुरमीत की सजा का ऐलान आना बाकी है लेकिन दोषी करार दिए जाने के बाद ही गुरमीत फूट-फूट कर रोने लगा। वो सुनारिया जेल की बैरक में ही सिर पकड़कर बैठ गया और अपने कर्मों को याद कर के रोने लगा।


तीसरे दिन भी उसने बहुत कम खाना खाया। फैसले से पहले की रात में वह अपनी बैरक में चक्कर लगाता रहा। सुनारिया जेल में बंद गुरमीत राम रहीम ने पिछले तीन दिनों में बहुत कम भोजन किया। शुक्रवार को सीबीआई की कोर्ट से दोषी ठहराने के बाद वह काफी देर तक परेशान रहा।


करीब चार मिनट तक सिर पकड़कर जमीन पर बैठा रहा। उसकी यह दशा देखकर एक जवान ने उसका हालचाल पूछा तो उसने कोई जवाब नहीं दिया। तबीयत खराब होने की आशंका के चलते अस्पताल की टीम ने जेल में ही उसके स्वास्थ्य की जांच की। दिन में भी उसका मेडिकल चेकअप किया गया था।

राम रहीम की हालत बिगड़ने की उड़ी अफवाह
दोषी करार देने से पहले ही सुबह करीब दस बजे पीजीआई के डॉक्टरों की टीम सुनारिया जेल पहुंची। डॉक्टरों के टीम के पहुंचने की सूचना पर राम रहीम की तबीयत बिगड़ने की अफवाह फैल गई। हालांकि, रुटीन प्रक्रिया के तहत पेशी से पूर्व पीजीआई के डॉक्टरों को बुलाया गया था। जेल प्रशासन ने राम रहीम की हालत बिगड़ने की बात से इनकार किया है।




from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
आगे पढ़े ----पत्रिका

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here