आईईडी बनाने में माहिर जीनत तीन साल रह चुका था जेल में, एनकाउंटर में मारा गया अल बद्र का था टॉप कमांडर - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

आईईडी बनाने में माहिर जीनत तीन साल रह चुका था जेल में, एनकाउंटर में मारा गया अल बद्र का था टॉप कमांडर

Share This

श्रीनगर। कुलगाम जिले में सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में शनिवार को दो आतंकी ढेर हो गए। इनमें एक का नाम जीनत-उल-इस्लाम है (31), जो अल बद्र नामक आतंकी संगठन का कमांडर था। जबकि दूसरे आतंकी का नाम उस्मान है। ए +++ ग्रेड का आतंकी जीनत आईईडी विस्फोटक बनाने में माहिर था और पिछले चार सालों से सुरक्षाबलों के निशाने पर था।

तीन साल रहा था जेल में

पुलिस के मुताबिक जीनत का लंबा आपराधिक रिकॉर्ड है। वह 2006 में ही अल-बद्र के साथ जुड़ गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जीनत को 2008 में पुलिस ने गिरफ्तार किया और करीब तीन साल जेल में रहने के बाद वह 2011 में जेल से छूटा।

हैदर फिल्म का यह कलाकार बना आतंकी, एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने कर दिया ढेर

लश्कर से भी जुड़ा था

नवंबर में 2015 में पाकिस्तान से संचालित होने वाले आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के साथ जीनत जुड़ गया था। इसके बाद वो अल बद्र आतंकी संगठन में पहुंच गया। जीनत अल बद्र का कमांडर बन चुका था।

 

एनकाउंटर

आईईडी एक्सपर्ट था

बैचलर ऑफ आर्ट्स की पढ़ाई पूरी कर चुका जीनत इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोजिव डिवाइस (आईईडी) एक्सपर्ट था। एक तरह के बम आईईडी काफी खतरनाक विस्फोटक होता है। जीनत सेना की 12 मोस्ट वांटेड की सूची में जिंदा तीन आतंकियों में से एक था। इस सूची में पहला नाम अंसर गजवत उल हिंद के मुखिया जाकिर मूसा का है।

कई वारदातों में रहा था शामिल

बताया जाता है कि जीनत 23 फरवरी 2017 में हुए शोपियां के खतरनाक हमले का मुख्य आरोपी था। इस हमले में तीन सेना के जवान और एक महिला की मौत हो गई थी। इसके अलावा वो टकरू शोपियां हथियार छीनने के मामले में भी शामिल था।

जम्मू-कश्मीरः सब इंस्पेक्टर की हत्या में दिया आतंकियों का साथ, पुलिस ने किया प्रेमी-प्रेमिका को गिरफ्तार

तीन साल की एक बेटी भी है

शोपियां के निवासी गुलाम हसन शाह ने मीडिया को बताया कि जीनत उनका सबसे बड़ा बेटा है और उसकी एक तीन साल की बेटी भी है। जीनत का पूरा नाम जीनत-उल-इस्लाम उर्फ जीनत उर्फ उस्मान था।




from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
आगे पढ़े ----पत्रिका

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here