सिनेमा विभाजनकारी शक्तियों से लडऩे का एक साधन है : नंदिता दास - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

सिनेमा विभाजनकारी शक्तियों से लडऩे का एक साधन है : नंदिता दास

Share This

तिरुवंनतपुरम। मशहूर अभिनेत्री-निर्देशक नंदिता दास ने शुक्रवार को कहा कि सिनेमा विभाजनकारी शक्तियों से अहिंसक तरीके से लडऩे के सबसे मजबूत साधनों में से एक है। 23 वें अंतरराष्ट्रीय केरल फिल्मोत्सव के उद्घाटन के मौके पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर दास ने कहा कि यदि सिनेमा इतना शक्तिशाली नहीं होता तो कोई भी उसे चुप कराना नहीं चाहता।

उन्होंने कहा समय बहुत मुश्किल भरा है। आप सभी बाढ़ (की विभीषिका) से गुजरे हैं। हम सभी ने बहुत थोड़ा बहुत प्रयास किया।हम सभी एक साथ आए। उन्होंने कहा लेकिन दूसरा हमला विभाजनकारी शक्तियों का है जो धर्म, जाति, वर्ग, लिंग के नाम पर हमें बांट रही हैं। हमें बिना हिंसक हुए उनसे लडऩा है और मैं मानती हूं कि कला और सिनेमा सबसे शक्तिशाली साधनों में एक बना हुआ है। एजेंसी




from Entertainment - samacharjagat.com
आगे पढ़े -समचरजगत

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here