जन्मदिन विशेष: बॉलीवुड के ही मैन हैं धर्मेन्द्र - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

जन्मदिन विशेष: बॉलीवुड के ही मैन हैं धर्मेन्द्र

Share This

मुंबई। बॉलीवुड में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों का अपना दीवाना बनाने वाले अभिनेता धर्मेन्द्र को अपने सिने करियर के शुरूआती दौर में वह दिन भी देखना पड़ा था जब निर्माता-निर्देशक उनसे यह कहते आप बतौर अभिनेता फिल्म इंडस्ट्री के लिये उपयुक्त नहीं हैं और आपको अपने गांव वापस लौट जाना चाहिये।

पंजाब के फगवारा में आठ दिसंबर 1935 को जन्मे धर्मेन्द्र का रूझान बचपन के दिनों से ही फिल्मों की ओर था और वह अभिनेता बनना चाहते थे। फिल्मों की ओर उनकी दीवानगी का अंदाज इस बात से लगाया जा सकता है कि फिल्म देखने के लिये वह मीलो पैदल चलकर शहर जाते थे। फिल्म अभिनेत्री सुरैय्या के वह इस कदर दीवाने थे कि उन्होंने वर्ष 1949 में प्रदर्शित फिल्म ;;दिल्लगी चालीस बार देख डाली थी।

वर्ष 1958 में फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर पत्रिका फिल्म फेयर का एक विज्ञापन निकाला जिसमें नये चेहरों को बतौर अभिनेता काम देने की पेशकश की गयी थी। धर्मेन्द्र इस विज्ञापन को पढक़र काफी खुश हुये अमेरिकन टयूबबैल में अपनी नौकरी को छोडक़र अपने सपनों को साकार करने के लिये मायानगरी मुंबई आ गये। मुंबई आने के बाद धर्मेन्द्र को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। फिल्म इंडस्ट्री में बतौर अभिनेता काम पाने के लिये वह स्टूडियों दर स्टूडियों भटकते रहे। वह जहां भी जाते उन्हें खरी खोटी सुननी पड़ती। धर्मेन्द्र चूंकि विवाहित थे। अत: कुछ निर्माता उनसे यह कहते कि यहां तुम्हे काम नहीं मिलेगा। कुछ लोग उनसे यहां तक कहते तुम्हें अपने गांव लौट जाना चाहिये और वहां जाकर फुटबॉल खेलना चाहिये लेकिन धर्मेन्द्र उनकी बात को अनसुना कर अपना संघर्ष जारी रखा।

इसी दौरान धर्मेन्द्र की मुलाकात निर्माता-निर्देशक अर्जुन भहगोरानी से हुयी जिन्होंने धर्मेन्द्र की प्रतिभा को पहचान अपनी फिल्म ;;दिल भी तेरा हम भी तेरे में बतौर अभिनेता काम करने का मौका दिया लेकिन फिल्म की असफलता ने धर्मेन्द्र को गहरा धक्का लगा और एक बारउ न्होंने यहां तक सोच लिया कि मुंबई में रहने से अच्छा है गांव लौट जाया जाये। बाद में धर्मेन्द्र ने फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने के लिये संघर्ष करना शुरू कर दिया।

फिल्म दिल भी तेरा हम भी तेरे की असफलता के बाद धर्मेन्द्र ने माला सिन्हा के साथ अनपढ़, पूजा के फूल, नूतन के साथ बंदिनी, मीना कुमारी के साथ काजल जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया। इन फिल्मों को दर्शकों ने पसंद तो किया लेकिन कामयाबी का श्रेय बजाये धमेन्द्र के फिल्म अभिनेत्रियों को दिया गया।एजेंसी




from Entertainment - samacharjagat.com
आगे पढ़े -समचरजगत

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here