फोन आया भाभी अस्पताल आ जाओ, पति की सांसे थमने की सोचकर गर्भवती महिला ने छत से लगाई छंलाग - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

फोन आया भाभी अस्पताल आ जाओ, पति की सांसे थमने की सोचकर गर्भवती महिला ने छत से लगाई छंलाग

Share This

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक हृदय विदारक घटना सामने आई है। यहां एक सात महिने की गर्भवती महिला इस कारण छत से कूद गई क्योंकि उसे लगा कि उसके पति की मौत हो चुकी है। खून से लथपथ घायल गर्भवती महिला को अस्पताल ले जाया गया। जहां उसने दो जुड़वा बच्चों को जन्म दिया और फिर इस दुनिया को अलविदा कह दिया। यहीं नहीं इसके बाद दोनों मासूम बच्चे अभी तक अपने मां के सीने भी नहीं लगे थे कि उन दोनों ने भी अपनी सांसे रोक दी।

दक्षिण अफ्रीकी पर्यटक ने लगाएं ये संगीन आरोप, कहा-गाइड ने किया मेरे साथ दुष्कर्म

इसके बाद कुछ ऐसा हुआ जो शायद किसी ने भी नहीं सोचा था। इसके बाद निमोनिया के कारण अस्पताल में वेंटिलेटर पर लेटे पति की भी अचानक मौत हो गई। थोड़ी सी जल्दीबाजी और बात को अर्थ कुछ ओर अर्थ सोचने के कारण पूरा परिवार खत्म हो गया। बताया जा रहा है कि महिला द्वारा निर्माणधीन छत से नीचे कूदने से पहले अस्पताल से उसके पास एक फोन आया था। जिसमें कहा गया था कि आप अस्पताल आ जाओ। बस इसी बात के लिए महिला ने सोचा कि उसके पति की सांसे थम चुकी है और उसने निर्माणधीन मकान की छत से नीचे छलांग लगा दी। ये घटना कोलार के स्वरूप साईंनाथ नगर की बताई जा रही है।

रास्ते में किशोरी को अकेला देख युवक ने उसके साथ की ऐसी घिनौनी हरकत, पढक़र आपको भी आ जाएगी शर्म

मीडिया रिपोट्र्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि लताई के रहने वाले मनोज गोहे ने 10 साल पहले गायत्री के साथ प्रेम विवाह किया था। बताया जा रहा है कि मनोज कार फाइनेंस का काम करता था। अभी कुछ दिनों पहले ही जब मनोज चैकअप के लिए अस्पताल गए तो डॉक्टरों ने उसे निमोनिया बताकर उन्हे अस्पताल में भर्ती कर लिया। यह भी बताया जा रहा है कि उस समय गायत्री सात माह की गर्भवती थी। अपनी पत्नी के गर्भवती होन के कारण मनोज ने उसे अस्पताल आने से मना कर दिया। सोमवार को जब अस्पताल में मौजूद देवर तरुण को गायत्री ने फोन किया और पति का हाल पूछा तो देवर ने कहा कि भाभी आप अस्पताल आ जाओ। इस बात को गायत्री समझ नहीं सकी और उसे गलत लेते हुए उसने सोचा कि शायद उसके पति की सांसे थम चुकी है और वह घर से निकल गई।

कैदियों ने जेल में मंगाईं शराब, दी धमकी: वरिष्ठ जेल अधीक्षक समेत छह अफसरों पर कार्रवाई

इस दौरान उसने पास ही स्थित एक निर्माणधीन मकान की छत से छलांग लगा दी। इस दौरान आस-पास के लोगों ने गायत्री को अस्पताल पहुंचाया। यहां उसने दो जुड़वा बच्चों को जन्म दिया, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। उधर बच्चों ने अभी अपनी आंख भी नहीं खोली थी और वह भी दुनिया को अलविदा कह गए। मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार बताया जा रहा है कि उन तीनों के जाने के कुछ देर बाद वेंटिलेटर पर चल रहे उसके पति की भी मौत हो गई। इस तरह की घटना के बाद पूरे इलाके में माहौल गमगीन है।




from City - samacharjagat.com
आगे पढ़े -समचरजगत

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here