आपको हर चीज पाने के लिए बनाया गया है - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

आपको हर चीज पाने के लिए बनाया गया है

Share This

दुनिया में हर चीज प्रचुर मात्रा में है, किसी चीज का अभाव नहीं है अर्थात् यह दुनिया अवसरों से भरी है, नौकरियों से भरी है, साधनों से भरी है, सुविधाओं से भरी है, स्रोतों से भरी है, संसाधनों से भरी है, मानव मूल्यों से भरी है, अध्यात्म से भरी है, अच्छाई से भरी है, सृजन से भरी है, शक्ति से भरी है और सफलता से भरी है। अब यह आप पर निर्भर करता है कि इनमें से आप किसका चुनाव करते हैं या फिर चुनाव ही नहीं करते। आमतौर पर देखा जाता है कि व्यक्ति इस दुनिया को अभावों से रोगों, बुराइयों से, बेरोजगारी से, छल-कलट और सभी तरह के टेन्शन से भरी हुई पाता है। यह तो वैसा ही हुआ कि व्यक्ति को हरा चश्मा पहनने पर केवल हरा दिखाई देता है, लाल चश्मा पहनने पर केवल लाल दिखाई देता है और कोई चश्मा नहीं पहनने पर हरी-भरी सुन्दर और मनमोहर प्रकृति को अच्छे से देख सकता है।

प्रकृति कभी भेदभाव नहीं करती है। पर्वत कभी यह नहीं करता है कि मुझे फतल मत करो, उसको फतह करने वाले भी नहीं इसी दुनिया के लोग हैं, धरती कभी भी किसी भी बीज को उगाने के लिए मना नहीं करती है, जो अपने खेत में बीज उगायेगा तो खेत कभी मना नहीं करेगा, लेकिन यदि कोई बीज डालेगा ही नहीं तो खेत बीज उगाने से रहा। यह तो व्यक्ति पर निर्भर है कि वह क्या करें क्या न करे?

अब यह प्रश्र उभर कर आता है कि जब दुनिया प्रचुरता से भरी हुई तो यहाँ पर इतना विभिन्नता क्यों है, इतनी गरीबी क्यों है? इतनी बेरोजगारी क्यों है? इतनी अशिक्षा क्यों है? और इतनी दुर्बलताऐं क्यों है? इसका सीधा सा उत्तर है यह सब कुछ व्यक्ति के स्वयं की कमजोरियों, पारिवारिक परिवेश और स्वयं को असक्षम मान लेने की शाश्वत बातों के कारण है। वरना तो जो भी आगे बढ़े हैं, वे एक दिन बहुत साधारण थे, शारीतिक रूप से कमजारे थे, अत्यधिक गरीब थे, लेकिन मन से सुदृढ़ थे, संकलित थे और ऊर्जा से भरे हुए थे। उनके सामने महान लक्ष्य या और लक्ष्य को प्राप्त करने का जज्बा, जोश, संकल्प और समर्पण था।

जो लोग ऐसा नहीं कर सके उनके पास लेकिन, किन्तु परन्तु, देखता हूं, असंभव है, मुश्किल है, ऐसा मैं नहीं कर सकता, ऐसा हो नहीं सकता, ये मैं नहीं कर सकता हूं और मेरे ऐसे नसीब कहां जो मैं वहां तक पहुंच सकता हूं, मैं तो अभागा जो टहरा। मेरे प्रिय मित्रों, आप इन सब नकारात्मक और कमजोर बातों के लिए नहीं बने हो, आप तो इस दुनिया के सभी आनंद और उपलब्धियों को पाने के लिए बने हो, क्योंकि ईश्वर ने आपको हर चीज पाने के लिए बनाया है।

प्रेरणा बिन्दु:-
कोई यह कहर कि मैं गरीब और कमजोर हूं किसी उपलब्धि या अवसर से वंचित नहीं रह सकता क्योंकि श्रीप्रभु ने किसी को गरीब और कमजोर बनाया ही नहीं है।




from Opinion - samacharjagat.com
आगे पढ़े -समचरजगत

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here