राजस्थान विस चुनाव: गरजे राजनीतिक महारथी, मोदी, राहुल, मायावती और योगी की सभाएं - social Gyan

Post Top Ad

Responsive Ads Here

राजस्थान विस चुनाव: गरजे राजनीतिक महारथी, मोदी, राहुल, मायावती और योगी की सभाएं

Share This

जयपुर। राजस्थान के विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां सोमवार को चरम पर पहुंच गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बसपा प्रमुख मायावती से लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के अलग-अलग इलाकों में कई चुनावी सभाओं को संबोधित किया।
राज्य के हालिया चुनावी इतिहास में संभवत: पहली बार देश की राजनीति के महारथियों ने एक ही दिन में इतनी बड़ी संख्या में चुनावी रैलियों को संबोधित किया।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी सोमवार को राज्य के चुनावी दौरे पर रहे इसके अलावा मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अलग से चुनाव प्रचार में लगी रहीं। प्रधानमंत्री मोदी ने भीलवाड़ा, बेणेश्वर धाम (डूंगरपुर) एव कोटा में बड़ी चुनावी रैलियों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री के निशाने पर कांग्रेस व उसका परिवारवाद रहा। उन्होंने आतंकवाद एवं नक्सलवाद को लेकर कांग्रेस के रुख पर निशाना साधा और कहा कि उसने कभी आदिवासियों की परवाह नहीं की।

इसके साथ ही उन्होंने तंज कसा कि कि जिन्हें मूंग और चने में फर्क नहीं वे किसान की बात कर रहे हैं। मोदी ने कांग्रेस में परिवारवाद पर प्रहार किया और खुद को कामदार बताया। मुंबई में आतंकी हमलों की दसवीं बरसी पर उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान कभी भी 26/11 को भूलेगा नहीं और 26/11 के गुनहगारों को भी। हम मौके की तलाश में हैं।

हमलों में जान गंवाने वालों से एकजुटता दिखाते हुए मोदी ने कहा कि कानून अपना काम करेगा, मैं देशवासियों को फिर से एक बार विश्वास दिलाता हूं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस देशभक्ति के पाठ पढाती थी लेकिन जब मेरी देश की सेना ने पाकिस्तान के घर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया आतंकवादियों का हिसाब चुकता कर दिया, जब देश की सेना ने इतना बड़ा पराक्रम किया, दुश्मनों को जाकर उसके घर में मारा ऐसे समय कांग्रेस ने सवाल उठाया। (कांग्रेस नेताओं ने कहा) वीडियो दिखाओ सर्जिक्ल स्ट्राइक हुआ कि नहीं। देश की सेना का जवान मौत को मुट्ठी में लेकर निकलता है हाथ में कैमरा लेकर जाएगा क्या?

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पोकरण, जालोर और जोधपुर में चुनावी रैलियां की और सीधे प्रधानमंत्री मोदी को निशाना बनाया। उन्होंने कांग्रेस सरकार आने पर दस दिन में किसानों का कर्ज माफ करने की बड़ी घोषणा की और कहा कि साढ़े चार साल में ही अच्छे दिन आएंगे का नारा चौकीदार चोर है में बदल गया। राहुल ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को चुनाव के दौरान वाणी सयंमित रखने की नसीहत दी।

उन्होंने कहा कि जितनी वे (भाजपा की केंद्र सरकार) उन (बड़े उद्योगपतियों) की मदद करेंगे हम उतनी ही मदद किसान, युवाओं, महिलाओं व छोटे दुकानदारों की करेंगे। पोकरण में राहुल ने कहा कि राज्य में चुनाव होने के बाद कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने के बाद दस दिन में कांग्रेस पार्टी, किसान का कर्ज़ा माफ कर देगी। बसपा प्रमुख मायावती ने सूरजगढ एवं आमेर सहित कई जगहों पर जनसभाओं में भाजपा व कांग्रेस को दलित विरोधी बताया जो आरक्षण प्रणाली को खत्म करने की फिराक में हैं।

आमेर (जयपुर) विधानसभा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर के प्रयासों से आरक्षण लागू हुआ लेकिन अब ये दोनों पार्टियां भाजपा व कांग्रेस इसके खिलाफ जा रही हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मकराना व रतनगढ़ सहित कई जगह पर सभाएं की और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि उसने हमेशा विभाजन,बंटवारे की राजनीति की है। मकराना में जनसभा में योगी ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा विभाजन,बंटवारे की राजनीति की है और इस विभाजन और बंटवारे की राजनीति का यह दुष्परिणाम है कि इस देश के अंदर आतंकवाद सिर चढ कर बोल रहा है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह धौलपुर जिले के राजाखेडा व बसेडी सहित कई जगह जनसभाएं कीं। उन्होंने कहा कि सेना गोलियों का हिसाब रखे बिना आतंकवादियों को मुहंतोड जबाब दे रही है और देश की सुरक्षा के साथ में कोई भी समझौता नहीं किया जाएगा।राज्य की मुख्यमंत्री राजे भी अलग से प्रचार अभियान पर रहीं और अपनी सरकार के विकास कार्यों के बल पर वोट मांगे। राज्य की 200 विधानसभा सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान होना है।




from City - samacharjagat.com
आगे पढ़े -समचरजगत

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here